sangrami lehar

ज्यादातर बच्चे फेल होने पर लोगों ने िवरोध िकया

  • 01/06/2018
  • 06:15 PM

रतिया : शहीद भगत सिंह नौजवान सभा व शिक्षा बचाओ मंच के नेतृत्व में खंड शिक्षा अधिकारी से मिलने शिक्षा अधिकारी के दफ्तर पहुंचे तो वहां मौजूद शिक्षा अधिकारी ने ठीक व्यवहार नहीं किया शिक्षा अधिकारी समझ गए कि यह लोग स्कूल की समस्या को लेकर आए हैं उन्होंने बच्चों को दूसरे कमरे में बैठने को कहा। जब हमने 134 के बारे में पूछा हमने कहा कि सभी निजी स्कूलों ने अभिभावकों फंड के नाम पर पैसे लिए हैं तो किथत तैर पर जवाब मिला हम मिले हुए हैं निजी स्कूलों के साथ जाओ जाकर गोली मार दो कोई कार्यवाही नहीं करता । वहां मौजूद सभा के कार्यकर्ताओं ने शिक्षा अधिकारी के व्यवहार का विरोध किया और प्रशासन से तबादले की मांग की आज निजी स्कूलों में लूट वह सरकारी स्कूलों में अध्यापक नहीं है बच्चों के भविष्य के साथ सरकार खिलवाड़ कर रही है और वहां मौजूद बच्चों ने कहा कि हमारे से स्कूल में सफाई करवाई जाती है यहां तक कि जो लाइट लगी हुई है कमरे में वह भी हमने खुद की खरीद कर लगाई हुई है पीने का साफ पानी नहीं है हमारे स्कूल में और सफाई कर्मचारी को भी हम पैसे इकट्ठे करके देते हैं यहां तक जो झाड़ू स्कूल में लगाया जाता है वह भी हमने ही खरीदा हुआ है शिक्षा अधिकारी से जब सवाल जवाब किए गए उसने सवालों के जवाब देने की बजाय आनाकानी कर रहे थे स्कूल में मात्र 4 अध्यापक पढ़ा रहे हैं शिक्षा अधिकारी ने बताया अलीका में 17 अध्यापक हैं अंदाजा लगाया जा सकता है कागजों में अध्यापकों की कमी को पूरा किया हुआ है वास्तव में स्थिति कुछ और है हम प्रशासन से मांग करते हैं निजी स्कूलों की लूट को तुरंत बंद करवाया जाए बिल्डिंग फंड के नाम पर जो पैसे अभिभावकों से लिए गए हैं वापस करवाया जाए 5 जून को इसी मुद्दे को लेकर छात्रों में अभिभावकों की एक मीटिंग रविदास मंदिर वार्ड नंबर 4 में रखी गई है स्कूलों में सुधार करने के लिए संघर्ष की रूपरेखा तैयार की जाएगी लापरवाही करने वाले प्रशासनिक अधिकारियों के बदली करवाने की मांग की जाएगी इस मौके पर गुरचरण सिंह मनदीप नथवान निर्भय परमजीत लाली रवि कुमार रतिया सतनाम कालाराम सहित अनेक साथी हाजिर थे